Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
खोज :
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

उत्तर रेलवे मुख्यालय

डिविजन्स

यात्री और माल यातायात सेवाएँ

समाचार एवं भर्ती सूचनाएँ

निविदाएं

हमसे संपर्क करें



 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
अधिकारियों और प्रमुख पर्यवेक्षकों की ड्यूटी सूची

अधिकारी और पर्यवेक्षकों की कर्तव्य सूची

A.प्रवर मंडल यांत्रिक अभियंता/केरिज एंड वैगन 
·प्रधान कार्यालय एवं मंडल कार्यालय से प्राप्त दिशानिर्देशों के अनुसार केरिज एंड वैगन से सम्बन्धित सम्पूर्ण कार्यों को करना ।
·मुरादाबाद मंडल में सुरक्षा संबंधी कार्यों की निगरानी,​​निरीक्षण और तकनीकी लेखा परीक्षा।
·मुरादाबाद मंडल में चल स्टॉक की सुरक्षा और गुणवत्ता संबंधी रखरखाव गतिविधियों के लिए समग्र निगरानी।
· कार्य एवं मशीन और प्लांट का निगरानी रखना ,सामग्री प्रबंधन और योजना की समग्र निगरानी रखना I
·दैनिक संभागीय नियंत्रण मामलों की समग्र निगरानी और अन्य विभागों के साथ संपर्क करना ।
·संबंधित कार्यों के समय पर प्रबंधन के लिए संभाग के अन्य विभागों से समन्वय स्थापित करना ।
·मुरादाबाद मंडल में आपदा प्रबंधन का कार्य करना I 
·मुरादाबाद मंडल में सेल्फ प्रोपेल्ड  एक्सीडेंट रिलीफ मेडिकल वान/ एक्सीडेंट रिलीफ मेडिकल वान की निगरानी और निरीक्षणकरना ।
·मुरादाबाद मंडल में स्थापना,यूनियनों के साथ समन्वय और कर्मचारी कल्याणकरना ।
·मुरादाबाद मंडल में अनुबंध प्रबंधनकरना ।
B.सहायक मंडल यांत्रिक अभियंता/केरिज एंड वैगन
·केरिज एंड वैगन के मंडल कार्यालय का काम करना ।
·मुरादाबाद, बरेली, शाहजहांपुर, बालामऊ, नजीबाबाद के केरिज एंड वैगन डिपो के सुरक्षा संबंधी कार्य,निरीक्षण,तकनीकी ऑडिटकरना ।
·मुरादाबाद मंडल पर संविदात्मक कार्यों की निगरानीकरना ।।
·मुरादाबाद मंडल में चल स्टॉक की सुरक्षा और गुणवत्ता संबंधी रखरखाव गतिविधियों के लिए समग्र निगरानीकरना ।।
·संभागीय स्तर पर समग्र निगरानी के साथ संबंधित मंडल केरिज एंड वैगन डिपो के कार्य एवं मशीन और प्लांट ,कार्यों,सामग्री नियोजन और प्रबंधन की योजनाबनाना ।
·समयपालन और आवाजाही की दिन-प्रतिदिन की स्थिति की निगरानी करना,मंडल नियंत्रण मामलों का पीछा करना और संचालन नियंत्रण के साथ संपर्क करना।
·इंटरमीडिएट ओवर हौलिंग , पीरियाडिक ओवर हौलिंग , रूटीन ओवर हौलिंग,पहिया और बोगी की स्थिति की निगरानी और ट्रेन की आवाजाही से संबंधित दिन-प्रतिदिन के मुद्दों को संबोधित करना।
·अन्य डिपो के साथ समन्वय और अन्य विभागों और मुख्यालय के साथ संपर्क करना ।
·मुरादावाद मंडल  में रोजा स्टेशन पर उपलब्ध सेल्फ प्रोपेल्ड  एक्सीडेंट रिलीफ मेडिकल वानऔर एक्सीडेंट रिलीफ मेडिकल वान की निगरानी एवं निरीक्षण करना । 
·एक्सीडेंट रिलीफ ट्रेन/मुरादाबाद औरएक्सीडेंट रिलीफ ट्रेन/रोजा से संबंधित निविदा कार्यों के संबंध में ऑपरेटिंग एंड फ्रेट के साथ समन्वय करना ।
·स्थापना और कर्मचारी कल्याण।
·समय पर पूरा करने और विशेष रूप से काम की गुणवत्ता के लिए चल रहे कार्यों की निगरानी।
·समय-समय पर निर्देशानुसार विभिन्न निरीक्षणों और सुरक्षा अभियानों की निगरानी और संचालन करना।
·निविदा गतिविधि और निविदा समिति गतिविधियों को सौंपे गए अनुसार।
·मंडल रेल प्रबंधक और मुख्यालय से जारी महत्वपूर्ण पत्रों और निरीक्षण नोटों का समय पर अनुपालन।
·समय-समय पर जारी कोडल प्रावधानों और नीति के अनुरूप रोलिंग स्टॉक की सुरक्षा और परिचालन आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए केरिज एंड वैगन डिपो और ओपन-लाइन के कामकाज की निगरानी करना।
·प्रवर मंडल यांत्रिक अभियंता/केरिज एंड वैगन मुरादाबाद द्वारा सौंपी गई कोई अन्य जिम्मेदारी।
 
C.सहायक मंडल यांत्रिक अभियंता/केरिज एंड वैगन/हरिद्वार 
·सहायक मंडल यांत्रिक अभियंता/केरिज एंड वैगन/हरिद्वारमहीने में 6 दिनों के लिए देहरादून स्टेशन और योग नगरी ऋषिकेश स्टेशन का दौरा करेंगे और प्रत्येक स्टेशन के लिए विस्तृत ड्यूटी सूची के साथ महीने में कम से कम दो बार लक्सर स्टेशन का दौरा करेंगे I
·हरिद्वार में सुरक्षा से संबंधित कार्य, हरिद्वार, योग नगरी ऋषिकेश  और देहरादून ( सी एंड डब्ल्यू ) डिपो के निरीक्षण और तकनीकी लेखा परीक्षाएं I 
·हरिद्वार, योग नगरी ऋषिकेश  और देहरादून(सी एंड डब्ल्यू) डिपो के संविदात्मक कार्य की निगरानी।  
·हरिद्वार, योग नगरी ऋषिकेश  और देहरादून(सी एंड डब्ल्यू) डिपो के रोलिंग स्टॉक की सुरक्षा और गुणवत्ता संबंधी अनुरक्षण गतिविधियों के लिए निगरानी एवं एम एंड पी का आकलन, संबंधित डिवीजनल सी एंड डब्ल्यू डिपो के कार्यों, सामग्री आयोजना और प्रबंधन और समय पर तैयार करने के लिए मंडल मुख्यालय के साथ संपर्क करना I
·हरिद्वार में SPARMV( की निगरानी और निरीक्षण। 
·निविदा कार्यों के संबंध में मंडल मुख्यालय के साथ समन्वय स्थापना और कर्मचारी कल्याण।   
·समय पर पूरा करने और विशेष रूप से कार्य की गुणवत्ता के लिए चल रहे कार्यों की निगरानी। 
· समय-समय पर निर्देशों के अनुसार विभिन्न निरीक्षणों और सुरक्षा अभियानों की निगरानी और संचालन करना।  
·निविदा गतिविधि और निविदा समिति की गतिविधियों के रूप में असाइन किया गया है।  
·सी एंड डब्ल्यू डिपो और ओपन लाइन के कामकाज की निगरानी, रोलिंग स्टॉक और परिचालन की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुएमहत्वपूर्ण पत्रों और निरीक्षण नोटों का समय पर अनुपालन। 
 
1.देहरादून   डिपो
·यात्री सुविधाओं के साथ-साथ एफएसडी,एफएसएसडी,डब्ल्यूएसपी,सीबीसी,संशोधनों,सुरक्षा ड्राइव जैसे सुरक्षा मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करते हुए विशेष रूप से प्राथमिक आधारित ट्रेनों की रखरखाव गतिविधियों की निगरानी,​​निरीक्षण और सुधार।
·ढांचागत मुद्दों को संबोधित और निगरानी की जानी चाहिए।
·स्टोर,एमएंडपी और टीएंडपी से संबंधित गतिविधियों की निगरानी की जाएगी।
·एमसीसी,ओबीएचएस,कीट और कृंतक नियंत्रण आदि जैसे अनुबंधों की निगरानी की जानी है।
·इंटरमीडिएट ओवर हौलिंग,SS-I को संबोधित करने और कम अप्रभावीता और बेहतर शेड्यूल ध्यान के लिए सुनिश्चित करने की योजना है।
·अन्य विविध मुद्दों को भी संबोधित किया जाना है।
2.योग नगरी ऋषिकेश डिपो
·रखरखाव गतिविधियों की निगरानी,​​निरीक्षण और सुधार।
·योग नगरी ऋषिकेश डिपो के रूप में रिकॉर्ड कीपिंग में सुधार हाल ही में संचालित डिपो है और इसमें अतिरिक्त ध्यान देने की आवश्यकता है।
·ETP( इ टी पी) के साथ केरिज एंड वैगन के काम करने,क्विक वॉटरिंग,वाशिंग लाइन और सिक लाइन इंफ्रास्ट्रक्चर और कार्य एवं मशीन और प्लांट आदि जैसे बुनियादी ढांचे के मुद्दों की निगरानी की जानी चाहिए। इसके अलावा,योग नगरी ऋषिकेश डिपो के जल निकासी मुद्दे की भी नियमित आधार पर निगरानी की जानी है।
·भण्डार की निगरानी की जाए तथा प्रत्येक आवश्यक वस्तु की उपलब्धता को सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर सुनिश्चित किया जाए।
·बेहतर प्रदर्शन के लिए एचडब्ल्यू डिपो से निष्पादित किए जा रहे अनुबंध की भी निगरानी की जानी है।
·योग नगरी ऋषिकेश डिपो में किए जा रहे इंटरमीडिएट ओवर हौलिंग की भी निगरानी की जानी चाहिए और तदनुसार योजना बनाई जानी चाहिए ।
·अन्य विविध मुद्दों को भी संबोधित किया जाना है।
3.लक्सर  डिपो
·लक्सर डिपो में एन-रूट अटेंशन डिपो होने के कारण एन-रूट अटेंशन के लिए मदों की उपलब्धता की निगरानी की आवश्यकता है। इस प्रकार,आईसीएफ/एलएचबी और मालगाड़ी के लिए निर्धारित सामग्री और उपकरणों की उपलब्धता की निगरानी की जानी चाहिए।
·लक्सरडिपो में की जा रही गतिविधियों पर नजर रखी जाएगी।
·
4.हरिद्वार डिपो
·हरिद्वार  डिपो में रखरखाव गतिविधियों की निगरानी,​​निरीक्षण और सुधार।
·सेल्फ प्रोपेल्ड  एक्सीडेंट रिलीफ मेडिकल वानसे संबंधित गतिविधियों की नियमित अंतराल पर निगरानी और निरीक्षण किया जाना है।
·बायो-टॉयलेट लैब की गतिविधियों की निगरानी और पूरे मंडल से प्राप्त अपशिष्टों के परीक्षण के लिए सुनिश्चित किया जाना है।
·मार्ग में ध्यान डिपो होने के कारण हरिद्वार डिपो को मार्ग में ध्यान देने के लिए मदों की उपलब्धता की निगरानी की भी आवश्यकता होती है। इस प्रकार,आईसीएफ/एलएचबी और मालगाड़ी के लिए निर्धारित सामग्री और उपकरणों की उपलब्धता की निगरानी की जानी चाहिए।
·वाशिंग लाइन परिसर में अवसंरचना संबंधी मुद्दों की भी निगरानी की जानी चाहिए।
·हर आवश्यक वस्तु की उपलब्धता के लिए स्टोर की निगरानी और सुनिश्चित किया जाना चाहिए।
·उचित निष्पादन के लिए अनुबंधों की भी निगरानी की जानी चाहिए।
·उपरोक्त सभी कार्यों के अलावा,अन्य सभी ड्राइव/संशोधन/निर्देशों की भी निगरानी की जानी है और सफल कार्यान्वयन सुनिश्चित करना है।
5.सीनियर सेक्शन इंजीनियर/प्लानिंग &एम&पी(मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय)
·योजना बनाना,तैयार करना एवं नवीन/अतिरिक्त अधोसंरचना कार्यों हेतु प्रस्तावों की सूची संभागीय समन्वयक को प्रस्तुत करना। ।
·ले-आउट ड्राइंग,उप अनुमान,अनुमान,पुनरीक्षण और मुख्यालय को प्रस्तुत करने सहित प्रस्तावों का निर्धारण करना I
·विस्तृत अनुमानों की जांच/स्वीकृति,एम एंड पी मदों की खरीद प्रक्रिया की शुरुआत और कार्य प्रगति के संपर्क सहित अनुवर्ती कार्रवाई करना ।
·उपरोक्त के अलावा,'यातायात विभाग 'द्वारा योजना शीर्ष 16 के तहत शुरू किए जा रहे कार्य प्रस्ताव को भी उपरोक्त वर्णित क्षेत्रों पर समान विकास की आवश्यकता है।
·अतिरिक्त/प्रतिस्थापन खाते के एम एंड पी प्रस्तावों की योजना बनाना और तैयार करना।
·पूर्व प्रशासनिक अनुमोदन प्राप्त करने और एम एंड पी कार्यक्रम में मामलों को संसाधित करने के औचित्य के साथ मदों की सूची प्रस्तुत करना।
·'एम एंड पी पोर्टल' पर एम एंड पी प्रस्ताव तैयार करना और एम एंड पी प्रश्नावली,चेक-लिस्ट आदि तैयार करना,जांच करना और मुख्यालय को प्रस्तुत करना।
·एम एंड पी मदों की मंजूरी के बाद,खरीद प्रक्रिया की शुरुआत,मैकेनिकल/प्लानिंग सेक्शन /मुख्यालय कार्यालय,स्टोर शाखा,COFMOW के साथ पत्राचार ।
6.सीनियर सेक्शन इंजीनियर/कोचिंग . &एम् पी पी(मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय)
·नये ICF कोच और निरीक्षण कैरिज और संबंधित कार्यों के लिए वारंटी के तहत कार्यशाला की गुणवत्ता और कोचों के संबंध में पत्राचार।
·कोच के पटरी से उतरने,CRS पूछताछ और प्रमुख असामान्यताओं के संबंध में पत्राचार करना I
·बायो-टॉयलेट कोचों और अन्य परीक्षणों का पत्राचार और निगरानी।
·किसी भी नई परियोजना/कोचिंग गतिविधि में जोड़ने जैसे रेट्रो  फिटमेंट कोच आदि की निगरानी,डेटा का संकलन और पत्राचार।
·ट्रेनों में चोरी के मामलों के संबंध में पत्राचार।
·मुख्यालय संदेश,CMG,अन्य एजेंडा और संसद प्रश्न का उत्तर।
·डिपो से प्राप्त आंकड़ों का संकलन विशेष अभियान के तहत।
·शिकायत और निरीक्षण नोटों के डेटा का जवाब देना और उसे बनाए रखना।
·पदों के सृजन हेतु स्टाफ प्रस्ताव तैयार करना,रिक्त पदों का संकलन,मुख्यालय कार्यालय हेतु मासिक पद की तैयारी I
·BOS के लिए डेटा तैयार करना और सरेंडर के लिए अधिशेष पदों की पहचान करना।
·केरिज एंड वैगन कर्मचारियों का प्रशिक्षण करना I
·लेखापरीक्षा आपत्तियों का उत्तर देना ।
·सुरक्षा से संबंधित सभी पत्राचार करना ।
7.सीनियर सेक्शन इंजीनियर/फ्रेट &सामग्री  (मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय)
·मुरादाबाद मंडल  और मुख्यालय के सभी फ्रेट डिपो के साथ फ्रेटस्टॉक रखरखाव के साथ-साथ विफलताओं से संबंधित सभी पत्राचार।
·BLC सहित फ्रेट डिपो के प्रदर्शन लक्ष्य की निगरानी।
·सभी कंटेनर ट्रेन संचालकों द्वारा ढुलाई प्रभार के 4.76% अनुरक्षण प्रभार के संबंध में अनुमान तैयार करना।
·अवपथन सम्बंधित  पत्राचार और ऑफ ट्रैक वैगनों का निस्तारण ।
·लेखापरीक्षा आपत्तियों का उत्तर देना ।
·अग्रदाय मदों के लिए डेटा का संकलन और संग्रह और मुख्यालय द्वारा वांछित सभी पदों की तैयारी।
·सभी स्टॉक मदों की पर्याप्त और नियमित उपलब्धता सुनिश्चित करना।
·भण्डार विभाग से संबंधित सभी पत्राचार।
·भण्डार विभाग से प्राप्त नमूनों का परीक्षण/व्यावहारिक परीक्षण करने की व्यवस्था।
·सभी स्टॉक मदों के संभागीय अग्रदाय और AAC की वार्षिक समीक्षा।
·सभी गैर-स्टॉक की खरीद की व्यवस्था करना और उसमें तेजी लाना I
·मासिक आधार पर जगाधरी वर्कशॉप और आलमबाग वर्कशॉप के स्टोर्स पर तय अग्रदाय मदों (मांग और आपूर्ति) से संबंधित सभी डिपो से डेटा का संकलन और संग्रह करना  I
 
8.सीनियर सेक्शन इंजीनियर/निविदा  (मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय )
·प्रस्तावों की तैयारी,कोचिंग के लिए निष्पादन की निगरानी,अनुमान,निविदा दस्तावेजों सहित लिनन और माल ढुलाई संबंधी निविदाएं तैयार करना I 
·मुरादाबाद मंडल पर ट्रेनों के विभिन्न यंत्रीकृत सफाई कार्यों के लिए एनआईटी,ब्रीफिंग नोट और तुलनात्मक विवरण।
·हाउसकीपिंग कार्य एवं गाड़ी अनुरक्षण से संबंधित अन्य कार्य।
·वाहन निविदाओं को किराए पर लेने की तैयारी।
·मुख्य कार्यालय अधीक्षक /टेंडर  द्वारा सहायता प्राप्त करना I
 
9.सीनियर सेक्शन इंजीनियर/केरिज एंड वैगन(कण्ट्रोल l)
·गाड़ी रखरखाव के संबंध में डिपो,मुख्यालय,अन्य मंडल और रेलवे के साथ पत्राचार।
·मुख्यालय को डिटेंशन रिपोर्ट और समयपालन रिपोर्ट।
·कोचिंग और सामान के परिसंपत्ति विफलता मामलों की रिपोर्ट मुख्यालय को।
·डी-लॉगिंग नोट तैयार करना।
·प्राइमरी मेंटीनेंस ,सेकेंडरी मेंटीनेंस और टर्मिनल मेंटीनेंसट्रेनों की समय की पाबंदी और असामान्य घटनाओं का रिकॉर्ड रखना।
·EOG कोचों के रिकॉर्ड का रखरखाव करना ।
·बर्थिंग चार्ट तैयार करना और कार्यभार को अद्यतन करना।
·POH/ IOH और EOG और SGACकोच सहित के लिफ्टिंग कार्यक्रम।
·नई ट्रेनों के प्रस्ताव की जांच,बारंबारता विशेष ट्रेनों और RPC-IVमें वृद्धि।
·केरिज एंड वैगन प्रदर्शन डेटा का संकलन जैसे कोच की विफलता,100 दिनों के अंदर कोचों की विफलता, कोचिंग और माल ढुलाई के अप्रभावी,डिपो होल्डिंग का कार्य पूर्ण रूप से तेयार करना I 
·ओवर ऑल इंचार्ज ऑफ कंट्रोल।
·हैंड आउट,महाप्रबंधक के वार्षिक निरीक्षण का  ब्रीफ तैयार करना।




Source : उत्तर रेलवे / भारतीय रेल पोर्टल CMS Team Last Reviewed : 11-04-2022  


  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.